The ATI News
News Portal

कोरोना मरीज की अधजली लाश छोड़कर भागे प्रशासनिक अधिकारी

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जौनपुर । कोरोना मरीज की अधजली लाश छोड़कर भागे प्रशासनिक अधिकारी

 

Rana Singh | 18-05-2020

 

कोरोना मरीज

जौनपुर। जनपद के मुँगराबादशाहपुर क्षेत्र के पँवारा थाना अंतर्गत की है घटना विडियों हुआ वायरल

मामला विस्तार से

कहा जा रहा है कि हाॅल ही में मुँगराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के स्थित सार्वजनिक इण्टर कालेज में बने क्वरेंटिन सेंटर में एक व्यक्ति की मृत्यु हो ग़ई थी जिसे कोरोना के मरीज में गिनती किया गया था , उस व्यक्ति के मृत शरीर को थाना पँवारा अन्तर्गत् गाँव में प्रशासन के द्वारा अंतिम संस्कार किया जाने लगा विडियों के माध्यम् से आप साफ देख सकते हैं की वहाँ कुछ व्यक्ति PPE किट पहने हुए मृत शरीर को स्टेचर के माध्यम से प्रशासनिक वाहन से खेत के तरफ लाए हैं

और लकडी़ व अन्य ज्वलन पदार्थ के माध्यम् से जल्दी जल्दी डेड बाॅडी को आग के हवाले कर दिए हैं , उग्र भीड़ इसका विरोध करते हुए  अधिकारीयों  और वर्करों  को दौडा़ ली जिसपर की वे अधजली लाश को वैसे ही छोड़कर भाग पडे़ , भीड़ ने गाँव के प्रधान समेत कुछ अन्य कर्मचारियों को भी मारा पीटा व प्रशासनिक गाडि़यों में भी तोड़ फोड़ कर दी है।

 

 

कौन था वह व्यक्ति

 

मृतक मजदूर प्रदीप कुमार पुत्र पूर्णमासी राम उम्र 34 वर्ष ग्राम नाथूपुर थाना जफराबाद थाना जाफराबाद जिला जौनपुर का निवासी जो 5 माह पहले मुंबई खाने- कमाने के लिए घर से मुंबई गया था। मृतक एक कपड़े की फैक्ट्री में काम करता था । लॉक डाउन के चलते फैक्ट्री बंद हो जाने के नाते फैक्ट्री मालिक फैक्ट्री ने निकाल दिया था। जिसके कारण उनको अपने गांव वापस लौटने के लिए मजबूर होना पड़ा। बीते 1 हफ्ते पहले उसे बुखार होने के कारण उसे ट्रेन यात्रा करने के लिए रोक दिया गया था। किंतु बीते 3 दिन पहले ज़िद करके यदा-कदा लोकमान्य ट्रेन के द्वारा वह बीते गुरुवार को लगभग 11:00 बजे प्रयागराज पहुंचा वह से सरकारी बस द्वारा मुंगरा बादशाहपुर में सार्वजनिक इंटर कॉलेज में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर पर उसे रखा गया ।

 

अब आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना अनिवार्य नहीं !

 

मृतक को 24 घण्टे भी आए हुए नहीं हुआ था कि शुक्रवार की सुबह लगभग 8:00 बजे उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना पाते ही सारे अधिकारियों में हड़कंप मच गया और वहां पर पहुंची स्वास्थ टीम ने मौत के कारण की जांच करना शुरू कर दिया था डॉक्टर आरपी सिंह ने बताया कि मृतक मजदूरी के पहले से ही तबीयत खराब चल रही थी सैंपल जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा गया था जहाँ ATI टीम ने चिकित्सा अधिक्षक से इसकी जानकारी माँगी तो चिकित्सा अधिक्षक डाॅ ए के शर्मा ने मृतक को कोरोना पाॅजिटिव होने की पुष्टी की थी।

 

किसने काटे आलिया भट्ट के लॉकडाउन मेंबाल, लोगों ने पूछा रणबीर से सवाल……

 

मृतक व्यक्ति की सूचना पाते ही उसके परिजन को क्वारंटीन सेंटर पर पहुंचे थे मृतक के परिजन के अनुसार 3 साल पहले मृतक की शादी हुई थी जिससे एक छोटा बच्चा भी है। इसके पिता की भी मौत 7 साल पहले हो चुकी है । घर में कमाने के लिए सिर्फ व्यक्ति था जो आज वह भी चला गया। घटना की सूचना सुनते ही जिले में हड़कंप मच गया था

फिलहाल अधजली लाश को बाद में ग्रामीणों ने ही जलाया और प्रशासन ने बल प्रयोग कर सरकारी वाहनों को निकालने में कामयाबी पाई थी।

 

बड़ी खबर बिहार के सीएम नीतीश कुमार के घर की सुरक्षा में लगे चार जवान निकले कोरोना पॉजिटिव

 

 

देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 96 हजार के पार, 24 घंटे में करीब 5 हजार बीमार

Leave A Reply

Your email address will not be published.