Browsing Category

लेख

articles

ज्योतिरादित्य सिंधिया को क्यों कहा जाता है महाराज या श्रीमंत

इस पोस्ट में हमने आपको ज्योतिरादित्य सिंधिया के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी देने की कोशिश की है। ज्योतिरादित्य सिंधिया को क्यों कहा जाता है "महाराज" या "श्रीमंत" ज्योतिरादित्य सिंधिया का जन्म 1 जनवरी 1971 (आयु 49) मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ…

हर व्यक्ति का जीवन दो हिस्सों में बटा होता है-

हर व्यक्ति का जीवन दो हिस्सों में बटा होता है- पहला, जब हम मां बाप के सहारे होते है बड़ा ही सुखमय होता है जब हमें सिर्फ फर्माईसें करनी होती है और वो चुटकियों में पूरी हो जाती है। ना किसी चीज की चिंता ना ही किसी चीज का भय और न ही कोई…

रंग बिरंगा होली , शैलेश ने जब है खेली “holi pe kavita hindi me” “होली पर कविता…

holi pe kavita hindi me होली पर कविता हिंदी में होली का पर्व हम बड़े धूमधाम से मनाते है जिसमें हम दुश्मन को भी गले लगाते है। आओ हम आज खुशियां मनाये एक दूसरे को रंग लगाए ।। चुन्नू अपने पापा से पिचकारी मंगवाया सब लोगो पर वह खूब रंग डाला । हो…

तो ये है यस बैंक के डूबने कि वजह #yesbankfall

तो ये है यस बैंक के डूबने कि वजह भारत का चौथा सबसे बड़ा निजी बैंक अब डूबने के कगार पर है। इसके बेहद खराब दिन चल रहे हैं। हालात इतने खराब हो गए कि इस बैंक की कमान आर बी आई को संभालनी पड़ी। बैंक के शेयर लगातार गिरते जा रहे हैं। बैंक की इस…

नारी हूं ,सबल भी हूं बुद्धि ,विवेक में प्रबल भी हूं।

नारी हूं ,सबल भी हूं बुद्धि ,विवेक में प्रबल भी हूं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस एक मज़दूर आंदोलन से उपजा , न्यूयॉर्क में साल 1908 में 15 हज़ार औरतों ने अपने मौलिक अधिकारों के लिए मोर्चा निकाला और नौकरी में काम का समय कम करने, बेहतर वेतन देने…

जब तक सूरज चाँद रहेगा ……………कहानी शहीद के शहादत् की

जब तक सूरज चाँद रहेगा ...............कहानी शहीद के शहादत् की चारो तरफ रोने की आवाज , चीख पुकार , नारे जब तक सूरज चाँद रहेगा भ़ईया जी का नाम रहेगा ..... देशभक्ति गानों के बीच में जोर जोर के नारे अलग ही जोश पैदा कर रहे थे , लोग गमगीन थे…

कम उम्रों में बढ़ती पाॅर्नोग्राफी

कम उम्रों में बढ़ती पाॅर्नोग्राफी "अबे सुन सुन जब वो बोलता है कि क्या साईज मैटर करता है तो कैसे लड़किया हँस के बोलती है नहीं साईज से मतलब नहीं होता बस स्टेमिना होना चाहिए " यह सब एक फुहड़पन भरे शब्द हैं और आपको सुनकर तो आश्चर्य तब होगा जब…

जीवन की” शायरी”

जीवन की" शायरी" खुद को बार बार टूट कर बनाया है हमने, लाखों बार खोकर भी पाया है हमने। करके पूरे समाज को दरकिनार, तब कहीं खुदको समझ पाया है हमने।। किसी को को खुश करने की जरूरत न रही जब ये जाना की हर रिश्ता निभाया है हमने। क्या सोचते थे हम और…

बूढ़ी “आयरन लेडी”

बूढ़ी "आयरन लेडी" #मोसाद टारगेट मोसाद टारगेट को मारने से पहले बुके भेजती थी जिसमें लिखा होता था " ये याद दिलाने के लिए कि हम ना तो भूलते हैं ना ही माफ करते हैं" उसके बाद आतंकवादी के जिश्म में गिनकर 11 गोली दाग दी जाती थी। 75 साल की बूढ़ी…

…….उन शहीदों को मेरा सलाम desh bhakti poetry in hindi

.......उन शहीदों को मेरा सलाम desh bhakti poetry in hindi .......उन शहीदों को मेरा सलाम ......उन शहीदों को मेरा सलाम # desh bhakti poetry in hindi " कितने भी तल्लीन रहो कितने भी मगरूर रहो आंसू आंखों से निकले या ना निकले अंतर्मन…