The ATI News
News Portal

कोरोना संक्रमित आठ माह की गर्भवती शिक्षिका की मौत से मचा हड़कंप

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

कोरोना से तो बहुतो ने अपनी ज़िंदगी से हाथ धो बैठा,मगर यह खबर दिल को दहला देती हैं, आपको बता दे जौनपुर खुटहन ब्लाक के कंपोजिट विद्यालय ओइना में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात कल्याणी अग्रहरि की मौत के बाद शिक्षा महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। आठ माह की गर्भवती कल्याणी की चुनाव ड्यूटी नहीं काटी गई और ड्यूटी के तुरंत बाद कोरोना संक्रमित होने से उनकी मौत हो गई थी। इसको लेकर शिक्षक संघ आक्रोशित है।

राहत की ख़बर: एक ही ऑक्सीज़न सिलेंडर से लगभग छह मरीज़ों का हो रहा इलाज, अब एक साथ बचाई जा सकेंगी ज़्यादा जानें

खुटहन के पटेला गांव निवासी दीपक अग्रहरि की पत्नी कल्याणी को बीते 25 दिसंबर को सहायक अध्यापक पद के रूप में तैनाती मिली थी। 27 जनवरी को उन्होंने विद्यालय में कार्यभार संभाला था। पंचायत चुनाव में कल्याणी की ड्यूटी करंजाकला ब्लाक में लगाई गई थी। अपनी स्थिति का हवाला देते हुए कल्याणी ने अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट के साथ प्रशासन के समक्ष ड्यूटी काटने की गुहार लगाई थी, लेकिन उनकी एक न सुनी गई।

जानिए कौनसी – कौनसी ट्रेनें हुई रद्द ?

पति दीपक के मुताबिक यह भय दिखाया गया कि अगर वह चुनाव ड्यूटी करने नहीं गई तो उनकी नौकरी भी खतरे में पड़ सकती है। जैसे-तैसे कल्याणी ने 15 अप्रैल को पुरुषोत्तमपुर गांव के बूथ पर ड्यूटी की। इसके बाद से ही तबीयत बिगड़ने लगी थी।

जानिए कौनसी बीमारी ले लेती है हर साल 10 लाख बच्चों की जान , 2021 में बनी उसकी वैक्सीन

परिवार के लोग 17 अप्रैल को शाहगंज स्थित एक निजी चिकित्सालय ले गए और वहां दवा दिलाकर घर चले गए। 19 अप्रैल से उनका ऑक्सीजन लेबल कम होने लगा। परिजन इलाज के लिए यहां-वहां भटकते रहे, लेकिन कहीं ऑक्सीजन तो कहीं बेड का अभाव बताकर भर्ती नहीं किया गया। कोविड जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद किसी तरह 24 अप्रैल को उन्हें जिला अस्पताल के एल 2 अस्पताल में भर्ती कराया गया। भर्ती होने के 2 घंटे के अंदर कल्याणी ने दम तोड़ दिया।

जानिए Covishield और Covaxin में क्या है अलग ? सम्पूर्ण जानकारी ।

शादी की तीसरी सालगिरह से दो दिन पहले कल्याणी की मौत से पूरा परिवार सदमे में है। कल्याणी को नौकरी मिलने के बाद से परिवार में खुशी का माहौल था लेकिन किसे पता था कि जिस नौकरी के लिए परिवार में खुशी है उसी नौकरी का दायित्व निर्वहन उनकी मौत का कारण बन जाएगी। पति दीपक का आरोप है कि पत्नी की मौत अफसरों की लापरवाही से हुई। प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अरविंद शुक्ला कहते हैं कि कल्याणी की मौत का जिम्मेदार सिस्टम है।

लगवाना हो कोरोना की Vaccine तो यहाँ क्लिक कर करें अपना पंजीकरण

उनका कहना है कि पंचायत चुनाव में तमाम ऐसे लोगों को भी ड्यूटी से मुक्त किया गया जो ड्यूटी करने के योग्य थे, लेकिन सहायक अध्यापिका कल्याणी 8 माह की गर्भवती होने का अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट लेकर अफसरों के यहां चक्कर लगाती रहीं, लेकिन किसी ने उन पर तरस नहीं खाया। उन्होंने मांग की कि इस प्रकरण की जांच होनी चाहिए। जिसकी भी लापरवाही के चलते कल्याणी को चुनाव ड्यूटी से मुक्त नहीं किया गया, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.