The ATI News
News Portal

क्या आपको पता है गेंदा फूल गाने की सच्चाई ? असली सिंगर नहीं हैं इसके बादशाह !

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

क्या आपको पता है गेंदा फूल गाने की सच्चाई ? असली सिंगर नहीं हैं इसके बादशाह !

क्या आपको पता है गेंदा फूल गाने की सच्चाई ? असली सिंगर नहीं हैं इसके बादशाह !हाल ही में भारत के मशहूर सिंगर बादशाह का एक गाना रीलीज हुआ है जिसके बोल हैं ‘गेंदा फूल’ गाना तो हिंदी में है परन्तु गाने की कुछ चीजें बंगाली वेषभुषा और बोल चाल की हैं , लोगों ने जब यह गाना सुना तो फिर बंगाली बिट के लिए गाने की कहीं कहीं आलोचना शुरू हो ग़ई . बादशाह भी इस तरह की आलोचना की उम्मीद नहीं किए थे वहीं इतने तक ही बात बस नहीं रहीं लोगों ने उनपर आरोप लगाया कि यह गाना उन्होनें चोरी किया है , इस गाने के आर्टिस्ट एक बंगाल के लोक गायक रतन कहार जी हैं जिसको की बादशाह ने पूरे गानें में कहीं क्रेडिट तक नहीं दिया । इन सभी बातों से लोगों में बादशाह के नाम पर आक्रोश भी दिखने लगा है , ये मामला यहीं खत्म होता नज़र नहीं आ रहा.

गेंदा फूल गाने को लेकर  बादशाह ने सोशल मीडिया पर अपना पक्ष रखा

इस कॉन्ट्रोवर्सी के बाद बादशाह ने सोशल मीडिया पर अपना पक्ष रखा. उनका कहना था कि उन्होंने ‘बोरो लोके’र बिटी लो’ को बनाने वाले कलाकार को बहुत ढूंढ़ा लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला इस लाॅकडाउन के महौल में उन्हे ढुढ़ना और मुश्किल हो गया था . बादशाह ‘बोरो लोके’र बिटी लो’ के ओरिजिनल गायक रतन कहार को नहीं ढूंढ़ पाए थे लेकिन रतन ने उन्हें ढूंढ़ लिया है.

1972 में इस गाने को बनाने वाले बंगाली कलाकार रतन कहार ने न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए कहा-

” ये जानकर बहुत अच्छा लगा कि इतने मकबूल आर्टिस्ट ने मेरा गाना इस्तेमाल किया और मेरी मदद करने की इच्छा जताई. मैंने उनका गाना सुना जो कि मुझे बहोत पसंद आया उन्होने यह भी कहा कि मैं गाने को लेकर खुश हुँ ही साथ ही सिंगर बादशाह से उम्मीद करता हुँ कि मेरे बदहाली और कठिन चल रही परिस्थिति में बादशाह मेरी आर्थिक मदद करेंगें, मैं उनसे बस यह ही एक उम्मीद रखता हूँ.”

बातचीत में उन्होने यह भी कहा कि

”लोग मेरा गाना सुन रहे हैं, ये बड़ी शानदार बात है. ये जानकर मैं खुशी और गर्व से भर गया हूं. मेरा ये गाना पहले ही काफी चर्चित था लेकिन सिर्फ वेस्ट बंगाल में. मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि बादशाह के कद का कोई आर्टिस्ट इसे अपने गाने में इस्तेमाल करेगा. ये बड़ी खुशी की बात है कि अब हर जगह के लोगों तक मेरा ये गाना पहुंच रहा है. बादशाह ने इस गाने को बिलकुल अपने ही अंदाज़ में इस्तेमाल किया है. मैं चाहता हूं कि वो मेरे यहां आएं और मुझसे बात करें. सबसे पहले मैं उन्हें मेरा गाना इस्तेमाल करने के लिए थैंक यू कहना चाहूंगा. अगर उनके पास समय हुआ, तो मैं उनसे संगीत पर भी चर्चा करना चाहुँगा .”

रतन कहार का कहा है घर

रतन कहार बंगाल के बीरभूम जिले के छोटे से गांव नागुरी में रहते हैं. जहाँ पर उनका एक घर हुआ करता था, जिसे सरकारी आदेश पर गिरा दिया गया. हालांकि रतन को अब भी आस पास के इलाकों में गाना गाने और सम्मानित करने के लिए बुलाया जाता है. लेकिन सम्मान से घर चलाना मुश्किल है . इसलिए 80 साल के रतन चाहते हैं कि बादशाह उनकी आर्थिक मदद करें, ताकि वो अपना बचा हुआ जीवन आराम से गुज़ार सकें… राना सिंह 

News source:thelallantop.com

Read More ..जानिए 5 अप्रैल को क्या है खास 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.