The ATI News
News Portal

अस्पतालों की लापरवाही से दो समुदाय के लोगों के शवों में हुई फेर-बदल, परिजनों ‌ने किया जमकर हंगामा

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

उत्तर प्रदेश। यूपी ‌के जिला मुरादाबाद से एक बेहद चौंका देने वाला मामला सामने आया है ‌जहाँ दो‌ शवों की आपस में अदला-बदली हो गई ‌जिससे पूरे अस्पताल में उनके परिजनों ने हंगामा कर दिया। बता दें कि कोरोना वायरस से आज देश‌ का लगभग हर दूसरा व्यक्ति ग्रसित हो चुका है जो भारी चिंता का विषय बन चुका है। ऐसे ही अस्पतालों में ‌परिजन अपनों की लाशें तक लेने को तरस रहे हैं क्योंकि चारों तरफ़ इस महामारी के कारण हाहाकार मचा हुआ है।

अस्पतालों की लापरवाही से दो समुदाय के लोगों के शवों में हुई फेर-बदल,
Photo AajTak

खुशखबरी: कोरोना वायरस को खत्म करने में कारगर “AAYUDH Advance” दवा अब आसानी से मिलेगी बाज़ार में

कुछ ऐसा ही बुधवार को मुरादाबाद जिले में हुआ जब‌ हिंदू-मुस्लिम समुदाय के लोगों की लाशें आपस में बदल गई और परिजन उनका अंतिम संस्कार करने के लिए लेकर चले गए। मगर हिंदू पक्ष के परिजनों ने जब दाह संस्कार के लिए शव का मुँह खोला तो पता चला कि वह उनके परिवार का सदस्य है ही नहीं तो उनके होश उड़ गए। फ़ौरन इसकी सूचना परिजनों ने अस्पताल वालों को दी और अपने सदस्य की डेड बॉडी माँगी तो हॉस्पिटल वालों ने यह कहकर उन्हें वहाँ से हटा दिया कि उनकी तरफ से कोई भी गलती नहीं हुई है और सही लाश को परिजनों को सौंपा गया है।

नई दिल्ली । जल्दी ही यहीं बनेगी ​लिथियम आयन बैटरी, जानिए क्या क्या है तैयारी

लेकिन चौंका देने वाली बात ये रही कि उसी समय मुस्लिम परिवार वाले भी वहाँ आ गए और उनकी भी शिकायत यही रही कि उनके परिवार के सदस्य का शव हॉस्पिटल द्वारा बदल दिया गया है। तभी उन दोनों शवों की शिनाख़्त की गई तो मालूम हुआ कि हिंदू-मुस्लिम पक्ष का शव अस्पताल वालों की लापरवाही के कारण आपस में ही बदल गया था। मुस्लिम परिवार ने बताया कि वे भी शव को अपने परिवार के सदस्य का शव समझकर उसे दफ़नाने के लिए लेकर चले गए थे कि तभी हकीकत पता चली तो‌ भागते हुए वह वापस उसे अस्पताल में शिकायत करने के लिए लेकर आए।

एसडीएम प्रशांत तिवारी ने बताया कि कॉसमॉस हॉस्पिटल में शव बदलने का मामला सामने आया था जिसकी जाँच के बाद दोनों शवों को कोरोना प्रोटोकॉल के तहत उनके परिवार वालों को सौंप दिया गया है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि अस्पताल में कोविड के चलते शवों को ट्रिपल लेयर में पैक करके रखा जाता है जिसके चलते अस्पताल प्रशासन की गलती से शव बदल गए। इस मामले की जाँच हो रही है और जो भी दोषी सिद्ध होगा उसके ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त कार्रवाई की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.