The ATI News
News Portal

जानिए भारत में कैसे दी जाती है फाँसी !

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जानिए भारत में कैसे दी जाती है फाँसी !

जानिए भारत में कैसे दी जाती है फांसी
जानिए भारत में कैसे दी जाती है फांसी !

क्या आपने कभी सोचा है कि किसी अपराधी को फांसी की सजा सुनाने के बाद आखिर उसे फांसी कैसे दी जाती है और जल्लाद किस तरह उस व्यक्ति को फांसी देता है..

आइए जानते हैं …

दरअसल किसी को फांसी देते समय कुछ नियमों का पालन करना जरूरी होता है, जिसके बिना फांसी की प्रक्रिया को अधूरा माना जाता है बिना नियमों का पालन किए फांसी की प्रक्रिया पूरी नहीं की जाती है।

फांसी देने के नियम में फांसी का फंदा, फांसी देने का समय, आदि चीजें शामिल होती है.

बता दें जब कोर्ट में किसी अपराधी को फांसी की सजा सुनाई जाती है तो पेन की निब तोड़ दी जाती है. जो इस बात को प्रदर्शित करता है कि अब उस व्यक्ति का जीवन समाप्त हो गया है।

वहीं फांसी देते वक्त जेल अधीक्षक, एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट, जल्लाद और डॉक्टर मौजूद रहते हैं. इनके बिना फांसी नहीं दी जा सकती है।

फांसी सुबह होने से पहले ही दी जाती है. ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि सुबह जेल के कैदियों का काम बाधित ना हो।

वहीं रात में जेल के कैदी को फांसी देने के बाद परिवार वालों को सुबह अंतिम संस्कार करने के लिए समय भी मिल जाता है।

साथ ही फांसी देने से पहले कैदी को नहलाया जाता है और नए कपड़े पहनाए जाते हैं जिसके बाद उसे फांसी के फंदे तक लाया जाता है।
बता दें, फांसी देने से पहले व्यक्ति की आखिरी इच्छा पूछी जाती है अपने शायद कहानियों या फिर फिल्मों में देखा भी हो ।

जिसमें परिवार वालों से मिलना, अच्छा खाना या अन्य इच्छाएं शामिल होती हैं जो भी व्यक्ति अपनी जिंदगी खत्म करने से पहले करना चाहता है।
जिस अपराधी को फांसी दी जाती है उसके आखिरी वक्त में जल्लाद ही उसके साथ होता है. हैरानी की बात है कि , सबसे बड़ा और सबसे मुश्किल काम जल्लाद का ही होता है।

फांसी देने से पहले जल्लाद अपराधी के कानों में कुछ बोलता है  ! जिसके बाद वह चबूतरे से जुड़ा लीवर खींच देता हैं।

दरअसल जल्लाद बोलता हैहिंदूओं को राम – राम और मुस्लिमों को सलाम. मै अपने फर्ज के आगे मजबूर हूं. मैं आपके सत्य के राह पे चलने की कामना करता हूं”

उम्मीद है आपको हमारी ये पोस्ट अधिक पसंद आयी होगी । कृपया चैनल को सब्सक्राइब और इसको शेयर करना ना भूले ताकि ऐसे ही इन्फॉर्मेशन हम आपको और से सकें। …..Writer Divyanshu Singh

ये भी पढ़े..

जल्लादों को जल्लाद ने लटकाया

दोषियों के वकील ने निर्भया और आशा देवी के लिए जो कहा, वो सुनकर उनकी सोच पर तरस खा जाएंगे आप

Leave A Reply

Your email address will not be published.