The ATI News
News Portal

जानिए शेक्सपियर कैसे बनें शख्सियत ..?

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जानिए शेक्सपियर कैसे बनें शख्सियत ..?

 

सौम्या तिवारी  | 23-04-2020

 

शेक्सपियर
Photo Source Google

आज हम बात करेंगे उस महान हस्ती की जिन्होंने कभी विश्वविद्यालय जाकर ज्ञान तो नहीं प्राप्त किया लेकिन फिर भी उनकी रचनाएँ दुनियाभर के प्रसिद्ध भाषाओं में लिखी गयी हैं । एक वक्त था जब बाइबिल के बाद सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाला किसी शख्स का ड्रामा था। हम बात कर रहे हैं विलियम शेक्सपियर की जिन्होंने अपने ड्रामा की वजह से विश्व भर में प्रसिद्धि हासिल की।

 

“अर्थ डे” की 50 वीं सालगिरह मनाता गूगल

शेक्सपियर नाटककार और अभिनेता होने के साथ -साथ अंग्रेजी कवि भी थे । 1594 से उन्होंने इस क्षेत्र में कार्य करना शुरू कर दिया था । इन्होंने उस समय 2 कविता लिखी,जिनमें ‘वीनस एंड एडोनिस’ और ‘दी रेप आफ़ लूक्रेस’ थीं । दोनों ही कविता बहुत लोकप्रिय हुई । जिसे अक्सर पत्रिकाओं में छापा जाता था। तद्पश्चात शेक्सपियर ने महिलाओं की संक्षिप्त जीवनी पर लिखी, जिसमें प्रेमी द्वारा प्रलोभन के प्रयासों के कारण जो पीड़ा होती है उसका व्याख्या था । उस कविता का शीर्षक था ‘अ लवर्स कंप्लेट’।

निजी जीवंन

इनका जन्म 1564 में 26 अप्रैल को स्र्टफ़ोर्ड आन एवन में हुआ था। विलियम शेक्सपियर ,जॉन शेक्सपियर और मेरी आडर्न के तीसरे संतान थे । इनसे बड़ी इनकी दो बहने थीं । शुरुआती शिक्षा इनकी स्थानीय फ्री ग्रामर स्कूल में हुई। शेक्सपियर के घर की आर्थिक स्थिति अच्छी न होने की वजह से इन्हें पढ़ाई -लिखाई छोड़ के छोटे -मोटे धंधों में हाथ आज़माना पड़ा। चीज़ों में ज्यादा बदलाव नही दिखाई दे रहा था। तब इन्होंने लंदन जाने का निश्चय किया । इसका ये भी कारण था कि इनके ऊपर हिरण चोरी का आरोप लग गया था जिसपे कानूनी कार्रवाई ना हो इस भय से इन्होंने अपना जन्मस्थान छोड़ दिया।

 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का रोचक इतिहास.

शेक्सपियर का विवाह 18 वर्ष की आयु में ऐन हथावे से हुआ था जिनसे इन्हें तीन पुत्र की प्राप्ति हुई। शुरू में इन्होंने रंगशाला में छोटे काम किये, फिर धीरे -धीरे लंदन की प्रमुख रंगशाला में समय समय पर अभिनय करने लगे । शेक्सपियर को फिर प्रसिद्धि मिलने लगी इन्होंने सर्वप्रथम स्ट्रोफोड़ आन एवन आके अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को ठीक करी । 1592 में विलियम शेक्सपियर रंगमंच की दुनिया मे मशहूर हो चुके थे ।

 

जानिए आज कितना है खास , पृथ्वी दिवस आखिर क्यूं और कब से मनाया जाता है ?

 

विलियम शेक्सपियर को अंग्रेजी भाषा का सर्वश्रेष्ठ सहित्यकार कहा जाता है । इसीलिए इन्हें bird of heaven की उपाधि भी दी गयी है। इस महान व्यक्तित्व वाले व्यक्ति की मृत्यु आज ही 23 अप्रैल को 1616 में हुआ था । इनके मृत्यु का कोई स्पष्ट कारण किसी ने नही बताया। शेक्सपियर की रोमियो एंड जूलियट नाटक सबके दिलों में आज भी ब सता है। इस नाटक को इन्होंने शुरुआती दिनों में लिखा था जब वह एक स्त्रगलर थे ।

 

जानिए इसरो के पहले सैटेलाइट की रोचक कहानी

 

यह नाटक प्रेमी और प्रेमिका की प्रेम की कहानी और दुःखद मौत पर आधारित है। इनके इस नाट्य को युथ ने बहुत सराहा और आज भी इस नाटक को लोग वैसे ही पसन्द करते हैं। हमारे लिए शेक्सपियर आइडल से कम नहीं इन्होंने बताया कि “किसी भी लेखक को डिग्री की आवयश्कता नहीं बल्कि लिखने का गुर व महसूस करने की क्षमता होनी चाहिए । आज हमारे बीच भले शेक्सपियर नहीं हों पर उनकी कविता ,नाट्य इत्यादि हमारे बीच जीवित हैं।

 

अंग्रेजी साहित्य का जादूगर, जो आज भी करता है लोगों के दिलों पर राज

Leave A Reply

Your email address will not be published.