योगी सरकार

जानिए योगी सरकार की कोरोना से जंग के खिलाफ क्या तैयारी हैं? जो दूसरे राज्यों को पछाड़ दिया।

 

Radha Singh | 31-05-2020

 

योगी सरकार
Photo Google

देश में कोरोना केसेज की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। भारत में अब तक के आंकड़ों के मुताबिक कोरोना संक्रमितों की संख्या एक लाख 82 हजार से ज्यादा है। तो वहीं देश में जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां पर कोरोना संक्रमितों की संख्या 7 हजार के पार हो चुकी है। ऐसे में अगर समस्या बड़ी है तो इससे निपटने के लिए तैयारी भी बड़ी होनी चाहिए। इसी कड़ी में यूपी सरकार ने कोरोना से जंग में हर मोर्चे पर खुद को साबित करने का काम किया है. सीएम योगी के धूंआधार एक्शन की वजह से उत्तर प्रदेश दूसरे राज्यों के लिए मिसाल बनने का काम कर रहा है।

 

केजरीवाल सरकार हुई कंगाल, सैलरी देने को पैसे नहीं!

 

तो वहीं अब कोरोनाकाल में उत्तर प्रदेश ने दूसरे राज्यों को पछाड़ते हुए बड़ी सफलता हासिल की है. जैसा कि कोरोना महामारी से बचने के लिए पहला- सही इलाज और दूसरा- टेस्टिंग बहुत जरूरी है. यूपी सरकार ने इन दोनों की जरूरत को समझते हुए बेहतरीन काम कर दिखाया है. जी हां सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए अधिकारियों को लक्ष्य दिया है कि ‘हर दिन 10 हजार कोरोना टेस्ट कराए जाएं, 15 जून तक 15 हजार प्रतिदिन और 20 जून तक 20 हजार प्रतिदिन कोविड-19 टेस्ट किए जाएं। ’

 

शाम की 5 बड़ी खबरें ,सुपरफास्ट 5

 

इसके साथ ही जांच में तेजी लाने के लिए सीएम योगी ने 30 टेस्टिंग लैब भी बनाने के भी निर्देश दिए हैं. बता दें कि जब उत्तर प्रदेश में कोरोना का पहला केस सामने आया था, तब केवल केजीएमयू में ही 50 टेस्ट हर दिन की व्यवस्था की गई थी. जिसे अब 10 हजार करने के साथ ही समय के साथ बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. तो वहीं अब उत्तर प्रदेश ने सूबे के मुखिया के नेतृत्व में एक और बड़ा काम कर दिखाया है.

 

जौनपुर ,चन्दवक : देखिए कहीं आपके इलाके का कोरोना पीड़ित व्यक्ति तो नीधड़क नहीं घूम रहा ?

 

जी हां टेस्टिंग बढ़ाने के साथ ही उत्तर प्रदेश अस्पतालों में एक लाख कोविड बेड बनाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है. जैसा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के नियंत्रण के लिए एल-1, एल-2 और एल-3 अस्पतालों में मई के आखिर तक बेडों की कुल संख्या एक लाख करने के निर्देश दिए थे। अब इसी तर्ज पर योगी सरकार ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है।

 

कोरोना वायरस से मौतों का वैश्विक आंकड़ा 3 लाख 69 हजार पार।

 

दरअसल योगी सरकार ने कोरोना से लड़ने के लिए कोरोना अस्पतालों के लेवल यानि कि स्तरों को तैयार किया गया है। प्रदेश के हर 75 जिले में लेवल-1 और लेवल- 2 के अस्पताल पूरी तरह से तैयार हैं. लेवल-1 और लेवल-2 के अस्पतालों में कोरोना के सामान्य मरीजों को रखा जाता है जबकि मरीज की ज्यादा तबितय खराब होने पर मरीज का इलाज लेवल-3 के अस्पतालों में किया जाता है। इसी कड़ी में यूपी में लेवल-3 के भी 25 अस्पतालों को तैयार किया जा चुका है।

 

मन की बात में बोले मोदी- ‘कोरोना से लड़ाई अभी बाकी, बरतें सावधानी’।

 

इन अस्पतालों में वेंटिलेटर, आईसीयू और डायलसिस की व्यवस्थाओं समेत गंभीर मरीजों को हाईटेक इलाज दिया जाएगा. लेवल-1 और 2 के अस्पतालों में सामान्य बेड के अलावा ऑक्सीजन और कुछ में वेंटिलेटर की व्यवस्था की गई है. इस तरह से उत्तर प्रदेश अस्पतालों में एक लाख कोविड बेड बनाने वाला देश का पहला राज्य बन चुका है तो वहीं एक दिन में 10 हजार टेस्टिंग करके यूपी ने दूसरे राज्यों को पछाड़ने का काम किया है।

 

 

मन की बात में बोले मोदी- ‘कोरोना से लड़ाई अभी बाकी, बरतें सावधानी’।

 

 

जानिए कैसे किसी बड़ी से बड़ी टीम को 2 मिनट में मात दे सकता है धोनी का ये तरीका….!

 

 

सुबह की पांच बड़ी खबरें , सुपरफास्ट 5

 

 

Free Download THE ATI MAGAZINE S2 

 

 

दिल्ली से मॉस्को की उड़ान, रास्ते में पता चला पायलट को कोरोना है, 1800 किमी जा चुकी फ्लाइट वापस लौटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *