The ATI News
News Portal

जानिए 5 अप्रैल को क्या है खास

1

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जानिए 5 अप्रैल को क्या है खास 

5 अप्रैल इतिहास का एक महत्वपूर्ण दिन है और पीएम मोदी ने कोरोना संकट से पैदा हुए अंधकार को हरने के लिए देशवाशियों से दीप प्रज्वलित की अपील करके उसे और यादगार बना दिया है। आइये जानें आज के ऐतिहासिक घटनाओं व गवाहों को ..—

इतिहास 5 अप्रैल का

जानिए 5 अप्रैल को क्या है खास ?

गांधी की दांडी यात्रा

गांधी जी की दांडी यात्रा इतिहास के पन्नो में स्वर्णीम अक्षरों से लिखा गया है। उन्होंने दमनकारी नामक कानून तोड़ने हेतु दांडी यात्रा की थी, जिसे बच्चा बच्चा तक जनता है । परन्तु क्या आप जानते है गांधी जी दांडी पहुँचे कब ?  5अप्रैल 1930 को गांधी जी दांडी पहुँचे। इस यात्रा की शुरुवात 12 मार्च 1930 में शुरू हुआ था । यह एक अहिंसक आंदोलन था जिसको काफी लोगो का समर्थन भी मिला।

भारतीय नौसेना

आज ही कि तारीख में 1919 में आधुनिक मर्चेंट शिपिंग की शुरुवात हुए थी। जिसे 5 अप्रैल को भारत में नेशनल मैरीटाइम डे के तौर पर मनाया जाता है । आज ही की तारीख में 1979 में देश का पहला मुम्बई में पहला नौसेना संग्रहालय खुला था। उस वक़्त मुम्बई को बम्बई के नाम से प्रख्यात था । सिंधिया स्टीम नेविगेशन कंपनी का 5940 टन का पोत लिबर्टी अपनी प्रथम यात्रा पर रवाना हुआ था।

बाबु जगजीवन राम

बाबू जगजीवन राम देश के पहले दलित उप प्रधानमंत्री थे । 5 अप्रैल 1908 को इनका जन्म हुआ था। बाबू जगजीवन राम 50 सालों तक सांसद रहे । इतने दिन तक सांसद रहने का इन्होंने वर्ल्ड रिकॉर्ड भी कायम किया तथा यह 1936 से 1986 तक सांसद रहे। 1935 में ऑल इंडियन डिप्रेस्ट क्लासेज लीग की स्थापना में अहम भूमिका निभाई । इस संगठन ने निचले तपके के लोगो को समान अधिकार देने व उनके भविष्य कल्याण का कार्य किया।

यह था आज यानी 5 अप्रैल का इतिहास। हमारे साथ जुड़े रहने के लिए शुक्रिया । आपके पास 5 अप्रैल से जुड़ी कोई भी इतिहस की कहानी, घटना या गवाह है..तो उसे कमेंट बॉक्स में साझा करें । Saumya Tiwari

ये भी पढ़े …जानिए 4 अप्रैल को दिल दहला देने वाली घटनाओं के बारे में ??

1 Comment
  1. Gaurav Tiwari says

    One of the most mysterious death of a Bollywood celebrity Divya Bharti happened on 5th April

Leave A Reply

Your email address will not be published.