The ATI News
News Portal

जानिए उत्तर प्रदेश की कौन सी जगह हुई सील ? एरिया सील होने पर क्या कर सकते हैं क्या नहीं !

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जानिए उत्तर प्रदेश की कौन सी जगह हुई सील ? एरिया सील होने पर क्या कर सकते हैं क्या नहीं !

जानिए उत्तर प्रदेश के कौन सी जगह हुई सील ? एरिया सील होने पर क्या कर सकते हैं क्या नहीं !
Pic Source Google

कोरोना वायरस के चलते देश में 21 दिनो का लॉक डाउन लगाया गया है,लेकिन फिर भी इसका संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। बढ़ते मामले को देखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने राज्य के 15 जिलों के हॉटस्पॉट इलाकों को सील करने का फैसला लिया है। यह इलाके बुधवार रात 12 बजे से 15 अप्रैल सुबह तक सील रहेंगे। इन इलाकों में जरूरी सामानों की होम डिलिवरी होगी और लोगों की किसी भी प्रकार की छूट नहीं मिलेगी। जरूरी सामान के लिये आपको 18004192211 पर कॉल करना होगा।

क्या है हॉटस्पॉट इलाकों को सील करने का मतलब

आमतौर पर लॉकडाउन के दौरान जरूरी सामानों कि दुकानें जैसे किराना,सब्जी आदि खोले की आजादी होती है  मगर जिन इलाकों को हॉटस्पॉट चिन्हित कर उन्हे सील किया गया है वहां किसी भी प्रकार की छूट नहीं दी गई है। सील इलाकों में सब्जी, किराना आदि की दुकानों एवं बैंक को भी बंद रखने का आदेश दिया गया है, ज़रूरत के सामानों की होम डिलीवरी की व्यवस्था सरकार द्वारा कि गई है ताकि खाने पीने की चीजों को उपलब्ध कराया जा सकते।

कौन-कौन से शहर के हॉटस्पॉट होंगे सील

यूपी सरकार ने जिन 15 जिलों के हॉटस्पॉट एरिया को पूरी तरह से सील करने का फैसला लिया है, वह हैं- लखनऊ, आगरा, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, कानपुर, वाराणसी, शामली, मेरठ, बरेली, बुलंदशहर, फिरोजाबाद, महाराजगंज, सीतापुर और सहारनपुर, बस्ती।

नोएडा के हॉटस्पॉट एरिया

सेक्टर 27, सेक्टर 28, वाजिदपुर गांव, सेक्टर 41, हाइड पार्क सेक्टर 78, सुपरटेक केपटाउन सेक्टर 78, लोटस सेक्टर 100, अल्फा-1 ग्रेटर नोएडा, निराला ग्रीन सेक्टर 02 ग्रेटर नोएडा, लॉजिक्स बलोस्म काउंटी सेक्टर 137, ATS डोल्क जीटा- ग्रेटर नोएडा, डिजाइनर पार्क सेक्टर 62, सेक्टर 5 और 8 जेजे कॉलोनी, महक रेजिडेंसी- ग्रेटर नोएडा।

गाजियाबाद के हॉटस्पॉट एरिया

नंदग्राम निकट मस्जिद- सिहानी गेट, केडीपी ग्रांड स्वाना सोसाइटी-राजनगर एक्सटेंशन, सेवियर सोसाइटी मोहनगर, बी-77/जी-5 शालीमार गार्डन एक्सटेंशन-2, पसौण्डा, ओक्सी होम भोपुरा, वसुंधरा सेक्टर-2बी, वैशाली सेक्टर-6, गिरनार सोसाइटी-कौशांबी, नाईपुरा लोनी, मसूरी, खाटू श्याम कॉलोनी दुहाई, कोविड-1 सीएचसी मुरादनगर।

कानपुरहकुली बाजार, अनवरगंज, बाबूपुरवा, मझरिया, बेकनगंज, कर्नलगंज, चमनगंज, मूलगंज, हलीम कॉलेज एरिया, घाटमपुर का बरीबाल गांव और टाउन एरिया का कटरा मोहल्ला।

लखनऊ थाना कैंट में मस्जिद के आसपास, थाना वजीरगंज में मोहम्मदी मस्जिद के आसपास, थाना कैसरबाग में फूलबाग की मस्जिद के आसपास, थाना कैसरबाग में नजरबाग मस्जिद के आसपास, थाना सहादतगंज में मोहम्मदिया मस्जिद के आसपास, थाना तालकटोरा में पीर मक्का मस्जिद के आसपास, थाना हसनगंज में त्रिवेणी नगर खजूर वाली मस्जिद के आसपास, गुडंबा में रजौली मस्जिद के आसपास, विजय खंड गोमती नगर का आंशिक क्षेत्र, इंदिरा नगर में डॉक्टर इकबाल अहमद क्लीनिक मेट्रो स्टेशन, मुंशी पुलिया का आंशिक क्षेत्र, खुर्रम नगर में अलीना एंक्लेव का आंशिक क्षेत्र, आईआईएम पावर हाउस के निकट थाना मड़ियाओं का आंशिक क्षेत्र।

ये भी पढ़े…. जानिए TRAI ने क्यों लगाया सभी टेलीकाॅम कम्पनियों को फटकार ?..

 

बस्ती- कोतवाली बस्ती शहर अन्तर्गत मु0- तुरकहिया और मिल्लतनगर तथा थाना पुरानी बस्ती मे तकियवा तीन हॉटस्पॉट चिन्हित किए गए हैं।

वाराणसी- मदनपुरा, लोहता, गंगापुर, बजरडीहा
बरेली- केवल सुभाष नगर

सहारनपुर- थाना चिलकाना- दुमझेड़ा, थाना कुतुबशेर – लोहानी सराय, ढोली खाल, थाना मंडी – यहिहिया शाह पक्का बाग, थाना जनकपुरी, हबीबगढ़, महीपुरा।

शामली- कस्बा झिंझाना, मोहल्ला नानुपुरी, गांव भैसानी इस्लामपुर।

मेरठ- शास्त्री नगर सेक्टर-13, मकान नं-287 सराय बहलीन शोहरबगेट, हुमांयूनगर, हकीमुद्दीन मस्जिद से जमुनानगर रोड, 253-हरनामदान रोड, बी-65 सूर्यनगर मेरठ, आजादनगर कॉलोनी, ग्राम महल्का, अराफात वाली मस्जिद, मवाना।

बुलंदशहर- वीरखेड़ा गांव थाना सिकंदराबाद, मोहल्ला रुकनसराय थाना कोतवाली नगर सदर तहसील, शिव कुमार अग्रवाल जनता इंटर कॉलेज जहांगीराबाद व आसपास के इलाके तथा-मोहल्ला लोध राजपूतान, बंशीधर, अंसरियांन एवं आहनग्रान थाना जहांगीराबाद।

महाराजगंज- बड़हरा इंद्रदत्त, कमरिया बुजुर्ग थाना कोल्हुई, बिशनपुर कुर्थिया, फुलवरिया-पुरंदरपुर।

इसके अतिरिक्त यूपी सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है जिसके तहत यूपी में अब घर से बाहर निकलते वक्त चेहरे को ढकना या मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है, ऐसा ना करने पर महामारी अधिनियम 1897 के तहत कार्यवाही की जा सकती है .

Shubham Dwivedi

(News Editor) Theatinews.com

ये भी पढ़े …COVID-19 के मरीजों के इलाज में जुटे डॉक्टर की कोरोना वायरस से मौत

Leave A Reply

Your email address will not be published.