The ATI News
News Portal

मनचलों की ख़ैर नहीं….

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आए दिन देश के अलग अलग कोनों से हैवानों की नापाक हरकतों की खबरें सामने आती रहती हैं।मानसिक रूप से दिवालिया हो चुके कुछ जाहिल अपनी हबस की प्यास बुझाने के लिए मानवता को तार तार करके किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हो जाते हैं। ना तो इन्हें किसी की उम्र का लिहाज होता है ना ही इन्हें कानून का कोई खौफ।ये हबस की भूख में इतने अंधे हो जाते हैं कि कोई अंदाजा नहीं लगा सकता। ऐसे हैवानों पर आए दिन एक्शन भी होता हैं। खासकर योगी राज में तो ऐसे लोगों की शामत आई हुई है। लगातार मनचलों और हैवानियत की सारी हदों को पार करने वालों पर कार्रवाई हो रही है।सीएम योगी ने साफ कह दिया है कोई भी प्रदेश की बहन बेटियों की इज्जत के साथ खिलवाड़ करेगा। तो उन्हें इसका अंजाम बुरा भुगता पड़ेगा।

इसी बीच उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में एक ऐसे मुस्लिम युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जो लड़कियों के अश्लील वीडियो और फोटो भेजता था। दरअसल पुलिस ने मोहम्मद तस्लीम नाम के टीवी मैकेनिक को गिरफ्तार किया है. तस्लीम पर आरोप है कि वो व्हाट्सएप ग्रुप में लड़कियों के अश्लील वीडियो और तस्वीरें भेजता था, जिसके चलते पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।इसके अलावा आरोपी तस्लीम पर आईपीसी की कई गंभीर धाराओं के तहत मामला भी दर्ज कर लिया गया है।

घटना उत्तर प्रदेश के पीलीभीत के बशीर खान क्षेत्र की है। यहाँ यूपी पुलिस की साइबर क्राइम ब्रांच ने शनिवार को तस्लीम को गिरफ्तार किया।30 साल का मोहम्मद तस्लीम पेशे से टीवी मैकेनिक है।

तस्लीम पर आरोप है कि वो अपने मोबाइल फोन से व्हाट्सएप ग्रुप में लड़कियों के अश्लील फोटो और वीडियो भेजता था। तस्लीम की इन हरकतों से परेशान होकर एक लड़की ने उसकी पुलिस में शिकायत कर दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ घटना पर पुलिस ने जानकारी दी है कि कि मैकेनिक तस्लीम फेसबुक और व्हाट्सग्रुप से लड़कियों के नंबर चुराता था इसके बाद अश्लील फोटो, वीडियो भेजता था।पुलिस ने मोहम्मद तस्लीम के पास फ़र्ज़ी आईडी और सिम कार्ड भी बरामद किया है।

आरोपी मोहम्मद तस्लीम पर आईपीसी की धारा 294 सार्वजनिक रूप से अश्लील हकत करना और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 67 के तहत मामला दर्ज किया गया है। वो फ़िलहाल पुलिस की गिरफ़्त में है और मामले की जाँच जारी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.