The ATI News
News Portal

कोई तो मेरे पिता को अस्पताल में भर्ती कर लो या फिर इंजेक्शन लगाकर मार ही दो…..बेटे के इस कथन को सुनकर काँप उठी सबकी रूह

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

महाराष्ट्र। कोरोना की दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही का मंजर फैला दिया है। लोगों की स्थिति दिन-प्रतिदिन बुरी होती नज़र आ रही है। हर दूसरे सेकेण्ड में हज़ारों लोगों के दम तोड़ने का आंकड़ा सामने आ रहा है जिसने सबके दिलों को दहला कर रख दिया है। लोग हर पल इस दहशत में जी रहे हैं कि कहीं इस जानलेवा बीमारी के अगले शिकार वे खुद न बन जाएँ। साथ ही अपने करीबियों को घुट-घुटकर मरता हुआ देखना सबसे ज़्यादा दिल दहला देने वाला मंजर है।

लखनऊ : डिफेंस एक्सपो के आयोजन स्थल पर बनेगा हजार बेड का कोविड अस्पताल

कुछ ऐसे ही हालात से गुज़र रहा यह बेटा अपने पिता की ज़िन्दगी के लिए लोगों से भीख माँग रहा है मगर कोई भी उसकी सहायता करने‌ में समर्थ नहीं है। आपको बता दें कि महाराष्ट्र के जिला चंद्रपुर का यह मामला सामने आया है जिसमें एक बेटा अपने कोरोना संक्रमित पिता के लिए जिले के हर अस्पताल के बाहर खड़ा होकर उन्हें एडमिट करने व उनका इलाज करने की गुहार लगा रहा है लेकिन कोई भी उसकी मदद नहीं कर रहा है क्योंकि किसी भी हॉस्पिटल में बेड खाली नहीं मिल पा रहा है।

अब उत्तर प्रदेश में हर रविवार को होगा कंपलीट लॉकडाउन योगी आदित्यनाथ ने दिए निर्देश

इतना ही नहीं, 71 वर्षीय बुजुर्ग मरीज के बेटे सागर नारशेट्टीवार ने यह भी बताया कि उसने पास के जिला तेलंगाना तक जाकर‌ लोगों से मदद की गुहार लगाई है परंतु कोई फ़ायदा नहीं हुआ। सागर कहते हैं कि प्राइवेट व सरकारी किसी भी अस्पतालों में उनके पिता को इलाज नहीं मिल रहा है और वह एंबुलेंस में लेकर उन्हें पिछले तीन दिनों से दर-दर भटक रहे हैं।

लाशों को जलाने के लिए नहीं मिल रही श्मशान घाट में जगह, कहीं भी अंतिम संस्कार करने को मजबूर हो रहे परिजन

हालात से हार कर उन्होंने गुहार लगाते हुए कहा है कि अगर कोई उनके पिता का इलाज नहीं कर सकता तो इंजेक्शन लगाकर उन्हें जान से ही मार दे क्योंकि वे अपने पिता को ऐसे तकलीफ़ में और देर तक छटपटाता हुआ नहीं देख सकते। यह ह्रदयविदारक तस्वीरें देखकर लोगों के रोंगटे खड़े हो गए हैं मगर लोग हालात को देखते हुए इतने मजबूर हो चुके हैं कि कोई किसी की चाह कर भी‌ सहायता नहीं कर पा रहा है। अतः आप सभी से निवेदन है कि “अपनी जान की सुरक्षा स्वयं करें, घरों में रहें व सुरक्षित रहें, क्योंकि जान है तो जहान है।”

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.