The ATI News
News Portal

कोरोना महामारी की चपेट में आने से पूरे परिवार ने तोड़ा दम, बहुत मुश्किल से बची घर की छोटी बहू ने डिप्रेशन में आ कर की आत्महत्या

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

मध्यप्रदेश। कोरोना वायरस ने पूरे देश में मानो तबाही मचा रखी है जिससे हर दूसरा व्यक्ति आज संक्रमित हो चुका है। कोने-कोने से ऐसी खबरें आ रही हैं जो दिलों को झंकझोर के रख देने वाली हैं। एक ऐसी ही घटना सामने आई है एमपी के जिला देवास से जहाँ कोरोना महामारी ने एक हँसते-खेलते पूरे परिवार को ही निगल लिया।

महज़ एक सप्ताह में देवास के अग्रवाल समाज के अध्यक्ष बालकिशन गर्ग की पत्नी और दो बेटों की कोरोना से मौत हो गई थी। घर की छोटी बहू इस सदमे को सहन नहीं कर सकी और उसने भी फाँसी लगाकर खुदकुशी कर ली‌‌। परिवार में बालकिशन गर्ग के अलावा बड़ी बहू और पोते-पोतियाँ ही रह गए हैं। सबसे पहले बालकिशन गर्ग की पत्नी चंद्रकला (75) कोरोना की चपेट में आई और 14 अप्रैल को उनकी मौत हो गई।

पुलिस अधिकारियों से बद्तमीज़ी करती लड़की का वायरल हुआ वीडियो, कोरोना का नहीं दिख रहा लोगों में थोड़ा भी डर

इसके दो दिन के बाद बेटा संजय (51) और फिर स्वपनेश (48) की कोरोना से मौत हुई। घर पर हुई इन मौतों को देखकर छोटी बहू रेखा (45) इस सदमे को सहन नहीं कर सकी और बुधवार को उसने फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। एक सप्ताह में मानो उनका पूरा परिवार ही उजड़ गया। बताया जा रहा है कि गर्ग परिवार का किराना का थोक का व्यापार है। घर की छोटी बहू इंदौर के नामी हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर राजेश अग्रवाल की छोटी बहन थी। इस घटना ने पूरे इलाके में हाहाकार मचा दिया है।

हर कोई अब परिवार में बचे लोगों को संभालने में लगा है। वहीं सिविल लाइन थाना पुलिस मौके पर पहुँची और शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया। इस मामले में नगर पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह चौहान ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जाँच में जुट गई है। आपको बता दें कि प्रतिदिन कोरोना से मरने वालों की संख्या में तेज़ी से इज़ाफा हो रहा है जो भारी चिंता का सबब बनता जा रहा है। भलाई इसी में है कि सभी लोग अपने घरों में रहें व सुरक्षित रहें क्योंकि भईया जान है तो जहान है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.