The ATI News
News Portal

जूना अखाड़े में है 4 लाख से अधिक सन्यासी

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जूना अखाड़े में है 4 लाख से अधिक सन्यासी  #juna akhada

 

Shubham Dwivedi |  20-April-2020

जूना अखाड़े में है 4 लाख से अधिक सन्यासी # जूना अखाड़ा
Photo Source Google

आदि शंकराचार्य ने हिन्दू मान्यताओं के अनुसार साधु संन्यासियों को अखाड़ों में बांट दिया। इन सभी अखाड़ों में सेjuna akhada सबसे बड़ा अखाड़ा है। इस अखाड़े में संन्यासियों की संख्या 4 लाख से ज्यादा है। इनमें से अधिकतर साधु नागा साधु हैं।जूना अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी जी महाराज हैं,जिनकी नियुक्ति 1998 में हुई थी। #juna akhada

 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का रोचक इतिहास.

 

juna akhada

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद में कुल अखाड़ों की संख्या 13 है।इनमें से कुछ अखाड़े शैव्य मान्यतों को मानने वाले हैं, कुछ वैष्णव है और कुछ उदासीन इन अखाड़ों को विशेष कर कुंभ और अर्धकुंभ के मेलों में स्पष्ट रूप से देखा जाता हैं। juna akhada के सभी मामलों को दो मुख्य स्वरूपों में बांटा गया है,पहला है ‘समाज’ जहां पूरे समाज के लिए निर्णय लिया जाता है और दूसरा है ‘घर’ जहां साधुओं के परिवारों के लिए फैसला लिया जाता है। खास बात है कि ये फैसले लेने वाले सभी सदस्य नागा साधु होते हैं। #जूना अखाड़ा 

 

जानिए इसरो के पहले सैटेलाइट की रोचक कहानी

 

जूना अखाड़ा अपने में एक पूरा समाज है जिसमें साधुओं के कुल 52 परिवार रहते है। इन परिवारों के सभी बड़े सदस्यों की एक कमेटी बनती है, जो अखाड़े के लिए एक सभापति का चुनाव करती हैं। एक बार चुनाव होने के बाद यह पद जीवनभर के लिए चुने हुए साधु का हो जाता है।ये चुनाव कुंभ मेले के दौरान किया जाता है। जूना अखाड़ा श्री रामता पंच का भी चुनाव करते हैं मतलब ये जूना अखाड़े के चल सदस्य होते हैं जो अखाड़े की रक्षा करते हैं और ईष्ट देवता की पूजा करते हैं।

 

साधु अखाड़ों की सूची

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.