ये छोटे शहर के लड़के

ये छोटे शहर के लड़के poetry in hindi

ये छोटे शहर के लड़के
Image Source Google

                           ये छोटे शहर के लड़के  poetry in hindi
बड़े अज़ीब होते है
खुद रो के सामने

वाले को हँसा लेते है
अपने गम को बड़े
तरीके से छुपा लेते है
अगर ग़ौर करो इनकी आंखों
में तो ये आंखे चुरा लेते है
ये लड़के अपनी बातें छिपा लेते है
अक्सर चखचख में अपनी चीज़े बिगाड़ लेते है
दोस्तो के लिए ज़लालत उठा लेते है
जो प्यार में पड़े तो दुनिया बना लेते है
हर जगह अपनी भौकाल बना लेते है
जो दिल टूटे तो यूपीएससी निकाल लेते है
कम उम्र में ज़िम्मेदारियाँ उठा लेते है
नादां बनके गलतियां भुला देते है
मजलूम होके भी मुस्कुरा देते है
अपनी मासूका को ज़िन्दगी बना देते हैं
ये लड़के बस यूँही हँसा देते है…….

सौम्या*

 

ये भी पढ़े ….कई बार रौंदा मेरे बड़े सपनों को इस छोटी सोच वाली समाज ने HINDI POETRY ON LIFE 

6 thoughts on “ये छोटे शहर के लड़के poetry in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *